हरियाणा : कोरोना संदिग्ध महिला के अंतिम संस्कार पर भड़के लोग, पुलिस-डॉक्टरों की टीम पर बरसाये पत्थर

  Written By:    Updated On:
  |  


हरियाणा : कोरोना संदिग्ध महिला के अंतिम संस्कार पर भड़के लोग, पुलिस-डॉक्टरों की टीम पर बरसाये पत्थर

महिला के अंतिम संस्कार का विरोध कर रहे ग्रामीणों ने किया पथराव

अंबाला:

हरियाणा के अंबाला में कोरोनावायरस (Coronavirus) संदिग्ध महिला के अंतिम संस्कार को लेकर बवाल मच गया. महिला के अंतिम संस्कार का विरोध कर रहे ग्रामीणों की सोमवार शाम पुलिस और डॉक्टरों से झड़प हो गई. सोमवार को शहर के एक अस्पताल में 60 वर्षीय महिला की बीमारी की वजह से मौत हो गई. जिसके बाद उसका अंतिम संस्कार करने की तैयारी की गई. लॉकडाउन (Lockdown) के नियमों का उल्लंघन करते हुए चांदपुरा गांव के लोगों ने अंतिम संस्कार स्थल पर पहुंच पुलिस पर पथराव कर दिया. जिसके बाद भीड़ को तितर-बितर करने के लिए पुलिस को हवा में फायरिंग करने पड़ी. 

भीड़ को हटाने के बाद बुजुर्ग महिला का अंतिम संस्कार किया जा सका. एक डॉक्टर ने बताया कि महिला की कोरोनावायरस जांच की रिपोर्ट का इंतजार किया जा रहा है. सिविस सर्जन कुलदीप सिंह ने कहा, “महिला को अस्थमा की समस्या की थी और सोमवार दोपहर को उन्हें सांस लेने में दिक्कत हुई. उपचार के दौरान उनकी मौत हो गई. कोरोना टेस्ट के लिए सैंपल लेने के बाद निर्धारित प्रक्रिया का पालन करते हुए उनके अंतिम संस्कार के लिए शव जिला प्रशासन को सौंप दिया गया था.” सिंह ने कहा कि ग्रामीण बिना गैरवाजिब तरीके से अंतिम संस्कार का विरोध कर रहे थे. 

अंबाला कैंटोनमेंट के डीएसपी राम कुमार ने बताया, “हमने ग्रामीणों को समझाया कि सभी सुरक्षा उपायों को अपनाया गया लेकिन वह बात सुनने को तैयार नहीं थे. जल्द ही उन्होंने डॉक्टरों और पुलिसकर्मियों पर पथराव शुरू कर दिया. उन्होंने एंबुलेंस को भी नुकसान पहुंचाया. भीड़ को हटाने के लिए हम कुछ बल प्रयोग करना पड़ा.” उन्होंने कहा, “लॉकडाउन का उल्लंघन करने और डॉक्टरों-पुलिसकर्मियों पर हमला करने वालों के खिलाफ केस दर्ज किया जाएगा.” 

वीडियो: कोरोना वायरस से मरने वाले को न तो नहलाएं, न कफन पहनाएं: मुस्लिम उलेमा



Source link

Leave a Comment

Share via
Copy link
Powered by Social Snap