Coronavirus: चीन ने कोरोना की तीसरी वैक्सीन के लिए क्लिनिकल परीक्षण की मंजूरी दी

  Written By:    Updated On:
  |  


Coronavirus: चीन ने कोरोना की तीसरी वैक्सीन के लिए क्लिनिकल परीक्षण की मंजूरी दी

चीन में कोरोना के 82,816 मामले सामने आ चुके हैं. (फाइल फोटो)

खास बातें

  • चीन के वुहान में मिला था कोरोना का पहला मामला
  • वुहान इंस्टीट्यूट ऑफ वायरोलॉजी पर लगे आरोप
  • चीन में सामने आ चुके हैं कोरोना के 82,816 मामले

बीजिंग:

चीन ने कोरोनावायरस (Coronavirus) के अपने तीसरे टीके के दूसरे चरण के क्लिनिकल ट्रायल को मंजूरी दे दी है. यहां कोविड-19 (COVID-19) के 12 नए मामले सामने आने के साथ संक्रमण के कुल मामलों की संख्या 82,816 हो गई है. चीन ने कोरोनावायरस के तीन टीकों के क्लिनिकल परीक्षण को मंजूरी दी है, जिनमें एक को चीन की सेना पीपल्स लिबरेशन आर्मी (पीएलए) ने विकसित किया है. सरकारी शिन्हुआ समाचार एजेंसी की खबर के अनुसार, वुहान इंस्टीट्यूट ऑफ बायलॉजिकल प्रोडक्ट्स ने चाइना नेशनल फार्मास्युटिकल ग्रुप (सिनोफार्म) के तहत विकसित अपने टीके का और वुहान इंस्टीट्यूट ऑफ वायरोलॉजी (डब्ल्यूआईवी) ने अपने वैक्सीन का क्लिनिकल परीक्षण शुरू कर दिया है.

डब्ल्यूआईवी पिछले दिनों उस समय विवाद में रहा था, जब अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप (Donald Trump) और शीर्ष अमेरिकी अधिकारियों ने आरोप लगाया था कि वहां से कोरोनावायरस पनपा होगा. अमेरिका ने इस मामले में जांच की मांग की थी. डब्ल्यूआईवी ने आरोपों का खंडन करते हुए कहा था कि ये पूरी तरह मनगढ़ंत हैं.

चीन की फार्मास्युटिकल कंपनी सिनोफार्म ने कहा कि क्लिनिकल ट्रायल के पहले चरण में 23 अप्रैल तक तीन अलग-अलग आयुवर्गों के कुल 96 लोगों को टीका लगाया गया है. अब तक टीके के परिणाम सुरक्षित रहे हैं और जिन लोगों पर इसका परीक्षण किया गया है, उन्हें निगरानी में रखा गया है.

VIDEO: असम में इस्तेमाल नहीं होंगी चीन से मंगाईं PPE किट्स

(हेडलाइन के अलावा, इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है, यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)



Source link

Leave a Comment

Share via
Copy link
Powered by Social Snap